Portal TOL Technology On-Line



Meta-Search TOL [e-books, codes, sites]:
tutorials, softwares, games, videos, projects, categories, articles, links (and images)*

- shortcuts for keywords, websites, videos, products of :
The village of Acharya Ramchandra Shukla आचार्य रामचंद्र शुक्ल || Agauna Basti Uttar Pradesh ||

Videos.Portal-TOL.net

The village of Acharya Ramchandra Shukla (आचार्य रामचंद्र शुक्ल) || Agauna, Basti, Uttar Pradesh ||

Advertisement(s)



Description: आचार्य रामचंद्र शुक्ल (४ अक्टूबर, १८८४- २ फरवरी, १९४१) हिन्दी आलोचक, निबन्धकार, साहित्येतिहासकार, कोशकार, अनुवादक, कथाकार और कवि थे। उनके द्वारा लिखी गई सर्वाधिक महत्वपूर्ण पुस्तक है हिन्दी साहित्य का इतिहास, जिसके द्वारा आज भी काल निर्धारण एवं पाठ्यक्रम निर्माण में सहायता ली जाती है। हिंदी में पाठ आधारित वैज्ञानिक आलोचना का सूत्रपात उन्हीं के द्वारा हुआ। हिन्दी निबन्ध के क्षेत्र में भी शुक्ल जी का महत्वपूर्ण योगदान है। भाव, मनोविकार संबंधित मनोविश्लेषणात्मक निबंध उनके प्रमुख हस्ताक्षर हैं। शुक्ल जी ने इतिहास लेखन में रचनाकार के जीवन और पाठ को समान महत्व दिया। उन्होंने प्रासंगिकता के दृष्टिकोण से साहित्यिक प्रत्ययों एवं रस आदि की पुनर्व्याख्या की।

आचार्य रामचंद्र शुक्ल का जन्म सं. १८८४ में बस्ती जिले के अगोना नामक गांव में हुआ था। पिता पं॰ चंद्रबली शुक्ल की नियुक्ति सदर कानूनगो के पद पर मिर्जापुर में हुई तो समस्त परिवार वहीं आकर रहने लगा। जिस समय शुक्ल जी की अवस्था नौ वर्ष की थी, उनकी माता का देहांत हो गया। मातृ सुख के अभाव के साथ-साथ विमाता से मिलने वाले दुःख ने उनके व्यक्तित्व को अल्पायु में ही परिपक्व बना दिया।

अध्ययन के प्रति लग्नशीलता शुक्ल जी में बाल्यकाल से ही थी। किंतु इसके लिए उन्हें अनुकूल वातावरण न मिल सका। मिर्जापुर के लंदन मिशन स्कूल से १९०१ में स्कूल फाइनल परीक्षा (FA) उत्तीर्ण की। उनके पिता की इच्छा थी कि शुक्ल जी कचहरी में जाकर दफ्तर का काम सीखें, किंतु शुक्ल जी उच्च शिक्षा प्राप्त करना चाहते थे। पिता जी ने उन्हें वकालत पढ़ने के लिए इलाहाबाद भेजा पर उनकी रुचि वकालत में न होकर साहित्य में थी। अतः परिणाम यह हुआ कि वे उसमें अनुत्तीर्ण रहे। शुक्ल जी के पिताजी ने उन्हें नायब तहसीलदारी की जगह दिलाने का प्रयास किया, किंतु उनकी स्वाभिमानी प्रकृति के कारण यह संभव न हो सका।[1]

१९०३ से १९०८ तक 'आनन्द कादम्बिनी' के सहायक संपादक का कार्य किया। १९०४ से १९०८ तक लंदन मिशन स्कूल में ड्राइंग के अध्यापक रहे। इसी समय से उनके लेख पत्र-पत्रिकाओं में छपने लगे और धीरे-धीरे उनकी विद्वता का यश चारों ओर फैल गया। उनकी योग्यता से प्रभावित होकर १९०८ में काशी नागरी प्रचारिणी सभा ने उन्हें हिन्दी शब्दसागर के सहायक संपादक का कार्य-भार सौंपा जिसे उन्होंने सफलतापूर्वक पूरा किया। श्यामसुन्दरदास के शब्दों में 'शब्दसागर की उपयोगिता और सर्वांगपूर्णता का अधिकांश श्रेय पं. रामचंद्र शुक्ल को प्राप्त है। वे नागरी प्रचारिणी पत्रिका के भी संपादक रहे। १९१९ में काशी हिंदू विश्वविद्यालय में हिंदी के प्राध्यापक नियुक्त हुए जहाँ बाबू श्याम सुंदर दास की मृत्यु के बाद १९३७ से जीवन के अंतिम काल (१९४१) तक विभागाध्यक्ष का पद सुशोभित किया।

२ फरवरी, सन् १९४१ को हृदय की गति रुक जाने से शुक्ल जी का देहांत हो गया। ३० सितंबर, २००८ को दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित विश्व पुस्तक मेले में इनकी जीवनी का विमोचन हुआ

आप बीसवीं शताब्दी के हिन्दी के प्रमुख साहित्यकार हैं। आप एक समीक्षक, निबन्ध लेखक एवं साहित्यिक इतिहासकार के रूप में जाने जाते हैं।

शुक्लजी ने हिन्दी साहित्य का इतिहास लिखा, जिसमें काव्य प्रवृत्तियों एवं कवियों के परिचय के अतिरिक्त समीक्षा भी दी गई है।

दर्शन के क्षेत्र में भी आपकी 'विश्व प्रपंच' उपलब्ध है। यह पुस्तक 'रिडल ऑफ़ दि यूनिवर्स' का अनुवाद है परंतु इसकी विस्तृत भूमिका आपका मौलिक लेखन है।

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के हिन्दी विभागाध्यक्ष के पद पर रहते हुए ही 1941 में हृदय गति रूकने से आपकी मृत्यु हो गई।

आपकी प्रमुख कृतियाँ हैं - हिंदी साहित्य का इतिहास, हिंदी शब्द सागर, चिंतामणि व नागरी प्रचारिणी पत्रिका।

Acharya Ramchandra Shukla (आचार्य रामचंद्र शुक्ल)
Born: 4 October 1882
Basti, North-Western Provinces, British India
Died: 2 February 1941 (aged 58)
Occupation: Writer, essayist, scholar, historian, novelist, critic.
Known for Codifier of the history of Hindi literature in a scientific system.
Ram Chandra Shukla (4 October 1884 – 2 February 1941), [1] better known as Acharya Shukla, is regarded as the first codifier of the history of Hindi literature in a scientific system by using wide, empirical research[2]
Acharya Ramchandra Shukla was born on October 4, 1882, Basti district in a wealthy Brahmin family, . His father Chandrabali Shukla was a prestigious Revenue Inspector (Kanoongo) at that time. Before he did his high school at London Mission School he learned Hindi, English and Urdu at his house by qualified teachers and then for further study he came to Allahabad and continued his study; after that he wrote and published his valuable literature works and his experienced information.
Acharya Ram Chandra Shukla was born on 4 October 1884 to Chandrabali Shukla in a small village—Agona, Basti, Uttar Pradesh—during British rule over India. He started his work in the world of letters with a poem and an article Prachin Bharatiyoin Ka Pahirava in Hindi and by writing in English his first published essay at the age of 17—What Has India to do. Keeping in the spirit of anti-imperialism, in 1921, he wrote Non-co-operation and Non-mercantile Classes of India which was an attempt to look at the struggle of Indian classes in the set up of colonial and semi-feudal economy


Sent by: Khas Press
( including the playlists )

Published at: 2018-09-21 17:54:57.000
Total of views: 220 - Duration: 1M51S

- Favorites: 0 - Likes: 4 - Dislikes: 0
Total of comments: 0 - Category id: 25

In window : XrHhtM3G_LQ
(Shockwave Flash Object)

¬ Video hosted by Youtube : the portal TOL is not responsible for this type of content

- requests for removal of this video based in laws like the DMCA must be sent to Google

Click this code to Select and Copy instantly
( Ctrl-C is necessary in the Firefox or Chrome )




Video HTML5 / Flash widescreen

Space destined for new content such as Comments, Updates, Suggestions, Constructive Criticism, Questions and Answers about "The village of Acharya Ramchandra Shukla आचार्य रामचंद्र शुक्ल || Agauna Basti Uttar Pradesh ||", doubts and solutions that help other visitors, users, students, professionals, etc.

| be the first ( soon ) to send a feedback related to: The village of Acharya Ramchandra Shukla आचार्य रामचंद्र शुक्ल || Agauna Basti Uttar Pradesh || |


Important ( before send a comment ) : Don't use this space to send another requests as content removals, claims, complaints, or to warn about errors that occurred on this page. Please, [click here] to report these or any other kind of problem for The village of Acharya Ramchandra Shukla आचार्य रामचंद्र शुक्ल || Agauna Basti Uttar Pradesh ||, even if it is temporary error or in the server...

Part of this page can be based on free documentation and paid or open content, including multimedia, therefore specific requests should be sent to the external source, the site Videos.Portal-TOL.net is not responsible for its edition and any page refresh can be made immediately or in a short and long term periods, depending on the origin.


Articles starting with the char T :
[PT][EO][ES][FR][IT][DE][NL][PL][SV][JA][ZH][RU][NO][FI][DA][CA][UK][CS][HU][RO]
[KO][TR][VI][ID][AR][FA][SR][LT][SK][HE][MS][BG][SL][EU][HR][HI][ET][LA][VO][EN]<

Related websites with The village of Acharya Ramchandra Shukla आचार्य रामचंद्र शुक्ल || Agauna Basti Uttar Pradesh || *




© Portal T.O.L. Technology On-Line powered by TOL framework

[ Tutorial On-Line changed the name to Technology On-Line when completed 15 years ]
Portal-TOL.net Technology On-Line Portal.TOL.pro.br